Delhi Solar Policy 2024:नहीं देना होगा बिजली बिल,दिल्ली सोलर पॉलिसी शुरू

Delhi Solar Policy 2024: दिल्ली सरकार ने दिल्लीवासियों के लिए नई सौर ऊर्जा नीति पेश की है। इससे दिल्ली के कुछ इलाकों में लोगों का बिजली बिल शून्य हो सकता है। और कुछ स्थानों पर, आपका ऊर्जा बिल आधा हो सकता है। इस लेख में हम आपको दिल्ली सरकार की इस नई सोलर पॉलिसी के बारे में बताएंगे और साथ ही यह भी बताएंगे कि आप सोलर पैनल कैसे लगवा सकते हैं, इन पर क्या सब्सिडी मिलेगी और इनके क्या फायदे हैं। ऐसा करने के लिए आपको हमारे आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहना होगा।

About Delhi Solar Policy 2024

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की है कि दिल्ली सौर ऊर्जा नीति 2024 के तहत, अपनी छतों पर सौर पैनल स्थापित करने वाले लोगों को उनके उत्पादन के आधार पर प्रोत्साहन प्रदान किया जाएगा। आवासीय क्षेत्रों में जिन उपभोक्ताओं ने नई नीति अपनाई है, उन्हें बिजली बिल नहीं आएगा और उन्हें 700 से 900 रुपये की अतिरिक्त आय भी मिलेगी। जवाब में, सरकार ने जेनरेशन बेस्ट इंसेंटिव प्रोत्साहन पेश किया। इससे पहले, सौर ऊर्जा नीति 2016 में प्रकाशित हुई थी। जिसने दिल्ली में सौर ऊर्जा उत्पादन की नींव रखी थी। इस पॉलिसी के मुताबिक, जिन लोगों ने सोलर पैनल खरीदने में निवेश किया है, उन्हें चार साल के भीतर अपना पैसा वापस मिल जाएगा। सौर ऊर्जा उत्पादन नीति के तहत 400यूनिट या इससे अधिक यूनिट सोलर पैनल लगाने वाली कंपनियों का बिजली बिल भी शून्य हो जाएगा।

An Overview Of Delhi Solar Policy 2024

पॉलिसी का नाम दिल्ली सोलर पॉलिसी
किसने शुरू की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने
लाभार्थी दिल्ली के रहने वाले
लाभ सोलर प्लांट लगाने पर 10 हजार रूपये तक की सब्सिडी का लाभ
अधिकारिक वेबसाइट जल्द ही
हेल्पलाइन नंबर जल्द ही

दिल्ली सोलर पॉलिसी का लाभ एवं विशेषताएं

  • आपको बता दें कि इस पॉलिसी के तहत जो लोग सोलर पैनल खरीदने में पैसा लगायेंगे, वह पैसा 4 साल के अंदर उन्हें रिकवर हो जाएगा.
  • इसी के साथ ही इस पॉलिसी के तहत सोलर पैनल लगाने वालों का 400+ यूनिट बिजली का बिल भी शून्य हो जाएगा.

दिल्ली सोलर पॉलिसी के तहत सोलर कैसे लगवा सकते हैं

  1. सरकार द्वारा यह जानकारी दी गई है कि Delhi Solar Policy की सारी जानकारी एक ही जगह आपको उपलब्ध हो जाएगी और इसके लिए सोलर पोर्टल भी बनाया जा रहा है.
  2. इसी के साथ ही दिल्ली सरकार द्वारा पोर्टल पर अधिकृत वंडर्स की एक लिस्ट भी अपलोड की जायेगी.
  3. लाभार्थी इस लिस्ट को डाउनलोड करके किसी एक वेंडर का चयन कर सकते हैं, और उन्हें कॉल कर अपनी छत पर सौर पैनल लगवाने की सारी जानकारी दे सकते हैं.
  4. इसके लिए आपको दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी.

दिल्ली सोलर पॉलिसी कैसे काम करेगी

  1. एक बार आपके घर की छत पर सोलर पैनल लग जायेगा, तो उसके बाद डिस्कॉम द्वारा एक नेट मीटर इंस्टॉल किया जायेगा.
  2. जोकि उत्पन्न हुई बिजली यूनिट्स एवं उपभोक्ता द्वारा इस्तेमाल होने वाली और नहीं इस्तेमाल होने वाली यूनिट सभी पर नजर रखेगा.
  3. फिर उसी के आधार पर उपभोक्ता को बिजली का बिल भेजा जाएगा.
  4. सोलर पैनल से जनरेट बिजली यूनिट्स को उपभोक्ताओं की खपत के अनुसार सेट किया जाएगा.
  5. जैसे कि यदि आप 3 से 10 किलो वाट क्षमता के सोलर पैनल लगवा रहे है तो 2 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से आपके बैंक खाते में पैसा जमा होगा.
  6. कहा जा रहा है कि दिल्ली सरकार 5 साल तक यह जेनरेशन बेस्ट इंसेंटिव देती रहेगी. साथ ही  आपको बता दें कि पूरे देश में केवल दिल्ली सरकार ही सोलर पैनल लगवाने वाले लोगों को जेनरेशन बेस इंसेंटिव दे रही है।

दिल्ली सोलर पॉलिसी के तहत सब्सिडी कितनी दी जाएगी

Delhi Solar Policy के तहत दिल्ली सरकार आवासीय क्षेत्रों में रहने वाले उपभोक्ताओं को अपने घरों में सोलर प्लांट लगाने परकैपिटल सब्सिडी देगी जोकि प्रति किलोवाट 2000 रुपए होगी, और यह अधिकतम 10,000 रुपए तक दी जाएगी. इसके अलावा यदि कमर्शियल और इंडस्ट्रियल  क्षेत्रों में उपभोक्ता हैं, तो वहां पर बिजली बिल का आधा भुगतान करना होगा. आपको बता दें कि जोकि लोग सरकारी बिल्डिंग्स पर रहते हैं और उनके छत का एरिया 500 वर्ग मीटर हैं तो उनके लिए सोलर पैनल लगवाना अनिवार्य है.

Leave a Comment