PM Swamitva Yojana Portal Registration 2023 In Hindi

पीएम स्वामित्व योजना पोर्टल पंजीकरण 2023 (PM Swamitva Yojana Portal Registration 2023)

https://svamitva.nic.in/svamitva/ पर लॉग इन करें |  संपत्ति कार्ड / मानचित्र / ड्रोन उड़ान स्थिति / अनुसूची और पूर्ण विवरण

PM Swamitva Yojana online registration 2023 & login at swamitva.nic.in | apply for property card, check status, maps, drone flying status, schedule | list of beneficiaries | get bank loans on village property, property titles (physical copies / digitally) to be handed over to each beneficiary

पीएम स्वामित्व योजना प्रवेश नामांकन (पंजीकरण) 2023 और लॉगिन: स्वामित्व योजना एक फोकल एरिया योजना है जिसे 24 अप्रैल 2020   को राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर भारत के सम्मानित प्रधान मंत्री द्वारा तैयार की गई एक दूरगामी केंद्रीय योजना है। पीएम स्वामित्व योजना प्रवेश ऑनलाइन नामांकन प्रक्रिया अब शुरू होती है। व्यक्ति अब स्वामित्व योजना आवेदन पत्र भर सकते हैं और अपने संपत्ति कार्ड बनाने, अंतिम दिशानिर्देशों की योजना बनाने, ड्रोन अध्ययन की स्थिति, समय सारिणी की जांच करने के लिए और सवालों की जांच करने के लिए लॉगिन कर सकते हैं। यदि सरल भाषा में योजना का अवलोकन करें तो प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत देश के सभी गांवों का डिजिटल नक्शा बनाया जाएगा और उनकी जमीन की जानकारी इंटरनेट पर उपलब्ध होगी, जिससे चल रहे विवादों को सुलझाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा पीएम स्वामित्व योजना एप्लीकेशन गूगल प्लेस्टोर से भी डाउनलोड किया जा सकता है। इस लेख में हम आपको इस भूमि सीमांकन योजना की पूरी बारीकियों के बारे में बताएंगे।

Table of Contents

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2023 के बारे में (About Pradhan Mantri Swamitva Yojana 2023)

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से लाभ उठाने का आह्वान किया और सरकार ने हाल ही में इस योजना पर एक पोर्टल लॉन्च किया है। सरकार की स्वामित्व योजना का पूर्ण रूप इस प्रकार है: उन्नत प्रौद्योगिकी का उपयोग करके ग्रामीण क्षेत्रों का ग्राम सर्वेक्षण और मानचित्रण। सरल शब्दों में कहें तो प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के दौरान देश के सभी गांवों का डिजिटल सर्वेक्षण और मैपिंग की जाएगी। आप प्लॉट का विवरण ऑनलाइन देख सकते हैं। इससे भूमि पर चल रहे विवादों को हल करने में मदद मिलेगी और भूमि के भूखंडों को लेकर ग्रामीणों के बीच भ्रम और विवाद कम होंगे।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2023 में ग्रामीण बस्तियों की सीमाओं का सीमांकन करने के लिए नवीनतम मानचित्रण तकनीकों का उपयोग किया जाएगा। इसके लिए, केंद्र सरकार ड्रोन तकनीक को तैनात करने के साथ पंचायती राज मंत्रालय, राज्य पंचायती राज विभाग, राज्य राजस्व विभाग और भारतीय सर्वेक्षण मंत्रालय के साथ काम करेगी। egramswaraj सरकारी पोर्टल egramswaraj.gov.in और egramswaraj ऐप ग्राम पंचायत विकास योजना (GPDP) की तैयारी और कार्यान्वयन के लिए एकल इंटरफ़ेस प्रदान करते हैं।

अब प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग अपने गांव में जमीन के लिए बैंकों से कर्ज ले सकते हैं। आबादी के ग्रामीण क्षेत्रों को ड्रोन तकनीक का उपयोग करके चित्रित किया गया है। इससे गांवों की आबादी वाले ग्रामीण इलाकों में घर रखने वाले ग्रामीण गृहस्वामियों को एक “कानूनी मार्गदर्शिका” मिलेगी, जो बदले में उन्हें बैंक ऋण और अन्य वित्तीय लाभ प्राप्त करने के लिए वित्तीय संपत्ति के रूप में अपनी संपत्ति का उपयोग करने में सक्षम बनाएगी।

(योजना का नवीनतम अपडेट) पीएम स्वामित्व योजना के लाभार्थियों को  संपत्ति कार्ड वितरण (Latest Update of Scheme) E Property Card Distribution to PM Svamitva Yojana Beneficiaries)

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 24 अप्रैल, 2023 को नए अद्यतन के साथ राष्ट्रीय पंचायती राज के अवसर पर स्वामित्व पहल-आधारित संपत्ति सत्यापन समाधान के साथ ई-प्रॉपर्टी कार्ड वितरित करना शुरू करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल कार्यक्रम के जरिए स्वामित्व योजना के लाभार्थियों से संवाद किया और 19 जिलों के 3,000 गांवों में लोगों को इलेक्ट्रॉनिक प्रॉपर्टी कार्ड भी वितरित किए। स्वामित्व योजना गांवों में संपत्ति के साथ-साथ शहरों में संपत्ति की सीमाओं के लिए उचित विलेख स्थापित करने की एक योजना है। इसी के साथ प्रधानमंत्री ने वर्चुअल संबोधित करते हुए लोगों को बताया 4.09 लाख संपत्ति मालिकों को उनके ई-प्रॉपर्टी कार्ड जारी किए जाएंगे। इस अवसर पर, देश भर में SVMITVA (गांवों की आबादी का सर्वेक्षण और ग्रामीण क्षेत्रों में उन्नत प्रौद्योगिकी के साथ मानचित्रण) परियोजना शुरू की जाएगी। प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 24 अप्रैल, 2020 को शुरू की गई थी और 24 अप्रैल, 2022 को इसका दूसरा वर्ष समाप्त हो गया है।

राष्ट्र को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री ने मांग की कि देश के गांवों को संपत्ति, भूमि और गांव के घर के रिकॉर्ड के संबंध में असुरक्षा से मुक्ति मिलनी चाहिए और प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना लोगों के लिए एक बड़ी ताकत होगी। गाँव। उन्होंने कहा कि यह एक कानूनी दस्तावेज से कहीं अधिक है, आधुनिक तकनीक देश में ग्रामीण विकास का नया सिद्धांत है और श्री मोदी जी ने इस प्रणाली के फायदों के बारे में बात की।

पीएम स्वामित्व योजना की मुख्य बातें (Highlights of PM Swamitva Scheme)

योजना का नाम

(Scheme Name)

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2022

(Pradhan Mantri Swamitva Yojana 2022)

द्वारा लॉन्च

(Launced by)

पीएम नरेंद्र मोदी

(PM Narendra Modi)

प्रक्षेपण की तारीख

(Launched Date)

24 अप्रैल 2020

(24 April 2020)

द्वारा प्रयोजित

(Sponsored by)

केंद्र सरकार

(Central government)

लाभार्थी

(Beneficiary)

सभी राज्यों के किसान

(Farmers of all states)

आधिकारिक वेबसाइट

(Official Website)

svamitva.nic.in
ई-ग्रामस्वराज ऐप

(e-gramswaraj App)

Download
स्वामित्व हिंदी ईबुक

(Swamitva Hindi eBook)

Click Here
योजना दिशानिर्देश पीडीएफ

(Scheme Guidelines PDF)

Download
आवेदन मॉड

(Application Mode)

 

ऑनलाइन

(Online)

 

गांवों में भूमि मालिकों को संपत्ति का मालिकाना हक सौंपा गया (Handing Over of Property Titles to Land Owners in Villages)

इससे पहले, 11 अक्टूबर, 2020 को प्रधान मंत्री मोदी ने गांवों में भूमि मालिकों को भूमि का स्वामित्व हस्तांतरित किया था। ग्रामीणों को जारी किए गए कानूनी दस्तावेज़ भूमि मालिकों को बैंक वित्तपोषण तक पहुंचने और अपनी संपत्ति को संपार्श्विक के रूप में उपयोग करने की अनुमति देंगे। यह ग्रामीण भारत में संपत्तियों का रिकॉर्ड रखने के लिए भी उपयोगी होगा। एक स्वामित्व विलेख 2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों में सभी शहरी या ग्रामीण क्षेत्रों (जनसंख्या) को मैप करेगा। स्वामित्व विलेख वर्षों के स्वामित्व विवादों को निपटाने में भी मदद करेगा।

आधिकारिक लॉन्च को चिह्नित करने के लिए 763 भूमि मालिकों को संपत्ति दस्तावेजों और डिजिटल संपत्ति मानचित्रों की भौतिक प्रतियां सौंपी गई है। जिसका विवरण इस प्रकार है; हरियाणा में 221, कर्नाटक में 2, महाराष्ट्र में 100, मध्य प्रदेश में 44, उत्तर प्रदेश में 346 और उत्तराखंड में 50। स्वामित्व प्रणाली के तहत इन दस्तावेजों का वितरण ग्रामीण क्षेत्रों में संपत्ति सत्यापन की एक एकीकृत प्रणाली प्रदान करता है।

स्वामित्व कार्यक्रम के अंतर्गत, आधुनिक तकनीकों का उपयोग करके ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि मानचित्रण किया जाता है, जिसमें भूमि चित्रण के लिए ड्रोन का उपयोग भी शामिल है। परिसीमन पंचायती राज मंत्रालय, सरकारी राजस्व कार्यालय और भारत सरकार के कार्यालय की मदद से किया जाता है।  वित्त मंत्रालय और अन्य विभागों के प्रतिनिधि मालिक की उपस्थिति में एक शीर्षक दस्तावेज़ तैयार करते हैं। इसके अलावा, विवादों को मौके पर ही सुलझाने के लिए व्यापक समझौतों पर बातचीत की गई है।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2023 के लाभ (Benefits of Prime Minister Swamitva Yojana 2023)

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2023 से प्राप्त होने वाले लाभ इस प्रकार हैं:-

  • पीएमस्वामित्व योजना से संपत्ति को लेकर होने वाले भ्रम और झगड़े समाप्त होंगे।
  • इसयोजना से संपत्ति विवाद समाप्त होंगे जिससे अदालती प्रक्रिया से छुटकारा मिलेगा।
  • सरकारीकार्यालयों के व्यर्थ के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।
  • बैंकोंसे ऋण आसानी से प्राप्त हो सकता है।
  • यहयोजना गांवों/पंचायतों में समुचित विकास के लिए उचित योजना सुनिश्चित करेगी।
  • ग्रामीणक्षेत्रों में, केंद्र सरकार सभी पंचायती कार्यों का ऑनलाइन हिसाब-किताब रखेंगे।
  • केंद्रसरकार अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी के द्वारा ड्रोन के इस्तेमाल से गांवों के प्रत्येक घर की मैपिंग करेगी।

मकान की मैपिंग के बाद लाभार्थी को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का प्रमाण पत्र मिलेगा। इस तरह, गांवों में रहने वाले लोगों को अपनी संपत्तियों के लिए बैंक से ऋण ठीक उसी प्रकार मिल सकता है, जैसे कि शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को बैंकों से ऋण प्राप्त होता है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार अगले साल से शुरू होने वाले पंचायती राज दिवस पर पुरस्कार प्रदान करेगी। इस योजना को लागू करने का उद्देश्य ग्रामीण लोगों को आधुनिक टेक्नोलॉजी के लिए प्रोत्साहित करना है।

पीएम स्वामित्व योजना के अंतर्गत विभागों की सूची (List of Departments under PM Swamitva Yojana)

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2023 के अंतर्गत योजना के क्रियान्वयन के लिए 4 विभाग हैं जो नीचे सूचीबद्ध हैं:-

1) पंचायती राज मंत्रालय (Ministry of Panchayati Raj)

2) राज्य पंचायती राज विभाग (State Panchayati Raj Department)

3) राज्य राजस्व विभाग (State Revenue Department)

4) सर्वे ऑफ इंडिया (Survey of India)

पीएम स्वामित्व योजना के उद्देश्य (Objectives of PM Swamitva Yojna)

स्वामित्व का अर्थ है गांवों का सर्वेक्षण करना और ग्रामीण इलाकों में तात्कालिक अत्याधुनिक तकनीक से मानचित्र बनाना। कार्यक्रम का उद्देश्य निम्नलिखित लक्ष्यों को प्राप्त करना है:-

  •  ग्रामीण भारतके नागरिकों को ऋण और अन्य वित्तीय लाभ प्राप्त करने के लिए अपनी संपत्ति को वित्तीय संपत्ति के रूप में उपयोग करने में सक्षम बनाकर वित्तीय स्थिरता प्रदान करें।
  •  योजनाका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सटीक भूमि दस्तावेज तैयार करना जिसमें किसी प्रकार का कोई विवाद  ना हो।
  •  सभीराज्यों में संपत्ति का निर्धारण उन राज्यों के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायतों को सीधे तौर पर प्राप्त होगा जहां पर इसका स्थानांतरण किया जाएगा नहीं तो उसे राज्य के खजाने में जोड़ा जाएगा।
  • जियोडेटिकबुनियादी ढांचे और जीआईएस मानचित्रों का निर्माण, जिनका उपयोग प्रत्येक विभाग अपनी आवश्यकताओं के लिए कर सकता है।
  • जीआईएसमानचित्रों का उपयोग करके उच्च गुणवत्ता वाली ग्राम पंचायत विकास योजना (जीपीडीपी) बनाने में  सहायता।
  •  संपत्तिसंबंधी विवादों और न्यायालयों के ऊपर अतिरिक्त कानूनी मामलों को कम करना है।

NOTE:-GIS प्रणाली ���

GIS पृथ्वी की सतह पर स्थान डेटा एकत्र करने, भंडारण, विश्लेषण और प्रदर्शित करने के लिए एक कंप्यूटर प्रणाली है। एक जीआईएस विभिन्न प्रकार के डेटा जैसे सड़क, भवन और वनस्पति को मानचित्र पर प्रदर्शित कर सकता है। यह लोगों को पैटर्न और कनेक्शन को अधिक आसानी से पहचानने, विश्लेषण करने और समझने में सक्षम बनाता है।

पीएम स्वामित्व योजना की मुख्य विशेषताएं (Salient Features of PM Swamitva Yojana)

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना 2023 की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं: –

  •  प्रधानमंत्री स्वामित्वयोजना ग्रामीण भूमि स्वामित्व के मामले में कीर्तिमान स्थापित करने के लिए तत्पर है।
  •  यहकार्यक्रम ग्रामीणों को संपत्ति का अधिकार देगा और वर्षों से चले आ रहे भूमि विवादों को सुलझाने में भी मदद करेगा।
  •  निर्विवादरिकॉर्ड बनाने के लिए गांवों में आवासीय क्षेत्रों का ड्रोन से सर्वेक्षण किया जाता है।  यह भूमि प्रबंधन एवं भूगणित की नवीनतम तकनीक है।
  •  कार्यक्रमको संबद्ध पंचायती राज मंत्रालय, भारतीय मामलों के प्राधिकरण, पंचायती राज विभागों और विभिन्न राज्य राजकोष मंत्रालयों के निकट सहयोग से कार्यान्वित किया जा रहा है।
  •  ड्रोनकी मदद से, गाँव के सभी भूमि भूखंडों का एक डिजिटल मानचित्र बनाया जाता है और आय क्षेत्रों की सीमाओं का सीमांकन किया जाता है।
  • गाँवकी प्रत्येक संपत्ति के लिए, राज्य सटीक ड्रोन माप का उपयोग करके संपत्ति का नक्शा बनाते हैं।
  • एकआधिकारिक दस्तावेज़ के माध्यम से संपत्ति के अधिकार प्रदान करने से ग्रामीणों को बैंक वित्तपोषण तक पहुंचने और अपनी संपत्ति को संपार्श्विक के रूप में उपयोग करने की अनुमति मिलेगी।

पीएम स्वामित्व योजना की पृष्ठभूमि (Background of PM Swamitva Yojana)

केंद्र सरकार हर साल 24 अप्रैल 2020 को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस मनाती है। प्रांतों में ई-गवर्नेंस को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने अब प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के लिए आवेदन पत्र, ऑनलाइन पोर्टल ई-ग्रामस्वराज और मोबाइल ऐप ईग्रामस्वराज लॉन्च किया है। इस प्रयास की शुरुआत खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की थी। इस अवसर पर, हर साल पंचायती राज मंत्रालय पंचायत प्रोत्साहन के आधार पर देश भर में सर्वश्रेष्ठ पंचायतों/राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को सम्मानित करता है, जो सेवाओं और सार्वजनिक वस्तुओं की डिलीवरी में सुधार में उत्कृष्टता को मान्यता देता है।

(कवरेज) पीएम स्वामित्व योजना राज्य [(Coverage) PM Swamitva Scheme States)]

देश में लगभग 6.62 लाख गांव हैं जिन्हें अंततः इस योजना में शामिल किया जाएगा। पूरा काम चार साल की अवधि में होने की संभावना है। वर्तमान में, वर्ष 2020-21 के लिए पायलट चरण को मंजूरी दी जा चुकी है। पायलट चरण लगभग छह पायलट राज्यों (हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड) तक विस्तारित होगा। दो राज्यों (पंजाब और राजस्थान) के लिए 1 लाख गांवों और सीओआरएस नेटवर्क स्थापना की योजना बनाई गई है। पायलट चरण के अंतर्गत शामिल गांवों की राज्यवार गणना के लिए अनुबंध देखने की आवश्यकता है। सर्वे ऑफ इंडिया के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर के समय संबंधित राज्य सरकार गांवों की सूची को अंतिम रूप देगी।

देश में लगभग 6.62 लाख गाँव हैं जोकि अंततोगत्वा इस योजना के अंतर्गत आएंगे। सभी काम चार साल के भीतर पूरा होने की उम्मीद बताई जा रही है। पायलट चरण को अब 2020-2021 के लिए मंजूरी दे दी गई है। पायलट चरण लगभग छह पायलट राज्यों (हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड) को कवर करेगा। दो राज्यों (पंजाब और राजस्थान) ने 1 लाख गांवों और CORS नेटवर्क की स्थापना की योजना बनाई है। पायलट चरण में शामिल गांवों की राज्य जनगणना में वृद्धि आवश्यक है। सर्वे ऑफ इंडिया के साथ MOU (Memorandum of understanding) पर हस्ताक्षर के समय संबंधित राज्य सरकार द्वारा गांवों की सूची को अंतिम रूप दिया जाएगा।

पीएम स्वामित्व योजना पोर्टल पंजीकरण / लॉगिन ऑनलाइन (PM Swamitva Yojana Portal Registration / Login Online)

देश के विभिन्न राज्यों में क्रियान्वित होने वाली पीएम स्वामित्व योजना पोर्टल पर Registration/Login Online करने के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया नीचे दी गई है:-

चरण 1: सर्वप्रथम पीएम स्वामित्व योजना की नीचे दी गई Official Website पर जाएं:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/ 

चरण 2: Official Website के मुखपृष्ठ पर, ऊपरी दाएं कोने में मौजूद “Login” लिंक पर क्लिक करें।

चरण 3: तत्पश्चात पीएम स्वामित्व योजना पोर्टल लॉगिन पेज नीचे दिखाए गए इमेज के अनुसार दिखाई देगा:-

या, सीधे नीचे दिए गए पेज पर पहुंचने के लिए सीधे इस लिंक पर क्लिक करें:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/login.html 

चरण 4: अब अपना “Phone Number” तथा “Password” डालने के पश्चात दिया हुआ “Captcha Code” डालें इसके पश्चात Login बटन पर क्लिक करें।

चरण 5: Login करने के पश्चात, आवेदक नए Registration का लिंक पा सकते हैं। तदनुसार,   आवेदक Registration Form पर एक-एक करके अपना संपूर्ण विवरण भर सकते हैं और सभी आवश्यक दस्तावेज भी अपलोड कर सकते हैं।

 चरण 6: अंत में, आवेदक को “Submit” बटन पर क्लिक करना होगा।  उम्मीदवार भविष्य के लिए भरे हुए आवेदन पत्र का प्रिंटआउट अपने पास में सुरक्षित रख सकते है। इसके बाद प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना आवेदन की ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी होने की आधिकारिक सूचना आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेज दी जाएगी।

योजना की संक्षिप्त स्तर की कार्यान्वयन प्रक्रिया प्रवाह प्रस्तुति (अर्थात पीएम स्वामित्व योजना ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया प्रस्तुति) [Brief level implementation process flow presentation of the scheme (i.e. PM Swamitva Yojana online registration process presentation)]

Step 1: सर्वप्रथम प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की Official Website पर जाएं जो कि नीचे दी गई है:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/

Step 2: Home Page पर “Download” विकल्प पर क्लिक करें अब आप देखेंगे “Download” ऑप्शन पर क्लिक करते ही एक Dropdown List खुल जाएगी जैसा कि नीचे Image में दिखाया गया है।

Step 3: अब इस खुली हुई Dropdown List में “Presentations” के विकल्प पर क्लिक करें जैसा कि नीचे Image में दिखाया गया है।

Step 4: अब आपके सामने Presentations का पेज खुल जाएगा जैसा कि नीचे Image में दिखाया गया है।

Step 5: अब इस इमेज में आपको “Presentation on SVAMITVA” के सामने “Download” पर क्लिक करना है जैसा कि नीचे Image में दिखाया गया है।

Step 6: अब Download के विकल्प पर क्लिक करते ही आपके सामने “SWAMITVA SCHEME” का 18 पन्नों का PDF आ जाएगा।

Step 7: इस 18 पन्नों के PDF के 8वें पेज पर आपको Implementation के पूरे चार्ट का Presentation मिल जाएगा।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना न केवल पंचायती राज संस्थाओं के ई-गवर्नेंस को मजबूत करेगी, बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों का तेजी से विकास भी सुनिश्चित करेगी। उपयोगकर्ता अब पोर्टल पर अपनी संपत्ति का पूरा विवरण आसानी से देख सकते हैं तथा संपत्ति के विवादों से होने वाली न्यायिक प्रक्रिया से भी बच सकेंगे।

पीएम स्वामित्व योजना की प्रगति (Progress of PM Swamitva Scheme)

चुन्ना का अंकन पूरा हो गया 94,734 गाँव
ड्रोन सर्वेक्षण पूरा हो गया 94,734 गाँव
मानचित्र राज्य को सौंप दिये गये 67,759 गाँव
पार्सल डिजिटलीकृत 39,01,577 पार्सल
पूछताछ के लिए मानचित्र उपलब्ध कराए गए 40,575 गाँव
संपत्ति कार्ड तैयार 26,470 गाँव
संपत्ति कार्ड वितरित 24,517 गाँव
सीओआरएस स्मारक 413
सीओआरएस नियंत्रण केंद्र के साथ एकीकृत 404

 

Note:- उपरोक्त दी गई पीएम स्वामित्व योजना की प्रगति का सारा डेटा 3 जनवरी 2022 तक का है।

पीएम स्वामित्व योजना की वास्तविक ड्रोन उड़ान अनुसूची/ड्रोन उड़ान स्थिति (Actual Drone Flying Schedule / Drone Flying Status of PM Swamitva Yojana)

पीएम स्वामित्व योजना के तहत वास्तविक ड्रोन उड़ान कार्यक्रम और ड्रोन उड़ान की स्थिति का अवलोकन अब सरलता पूर्वक योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर किया जा सकता है।

पीएम स्वामित्व योजना (रिपोर्ट अनुभाग) [PM Swamitva Yojana (Reports Section)] 

अब देश के किसी भी राज्य का कोई भी नागरिक पीएम स्वामित्व योजना के होमपेज पर रिपोर्ट अनुभाग पर जा सकते हैं।

Step 1: इसके लिए आपको सर्वप्रथम पीएम स्वामित्व योजना की Official Website पर जाना होगा जिसका लिंक नीचे दिया गया है:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/index.html 

Step 2: पीएम स्वामित्व योजना का होमपेज नीचे दिया गया है:-

Step 3: अब आपको “Report” सेक्शन पर क्लिक करना होगा जिसके बाद एक ड्रॉपडाउन लिस्ट खुलेगी। जिस पर आप “Weekly Report”, “Daily Report”, “Daily Wise Report”, “ORI & Vector Data Transfer Report” देख सकते हैं।

 

संपत्ति कार्ड वितरित विवरण देखें (View Property Card Distributed Details)

Step 1: सर्वप्रथम पीएम स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/index.html

Step 2: ऑफिशियल वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ को नीचे की तरफ Scroll करें। अब आप नीचे देखेंगे “Card Distributed” का विकल्प आपको दिखाई देगा जिस पर आप को क्लिक करना है। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 3: “Card Distributed” के विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपको “Property Card Distributed Details” का पेज दिखाई पड़ेगा। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 4: इस पेज पर आपको अपना “State”, “District”, “Tehsil”, “Village” सिलेक्ट करना होगा इसके बाद आपके सामने Property Card Distributed Details आ जाएगी। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

पीएम स्वामित्व योजना के तहत “Property Card Distributed Details” (वितरित संपत्ति कार्ड विवरण) देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर सीधे क्लिक करें:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/getPropertyCardDistributed.html 

अंतिम मानचित्र निर्मित विवरण देखें (View Final Map Generated Details)

Step 1: सर्वप्रथम पीएम स्वामित्व योजना की Official Website पर जाएं:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/index.html

Step 2: ऑफिशियल वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ को नीचे की तरफ Scroll करें। अब आप नीचे देखेंगे “Maps Handover To State” का विकल्प आपको दिखाई देगा जिस पर आप को क्लिक करना है। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 3: “Maps Handover To State” के विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपको “Maps Handover To State (SOI)” का पेज दिखाई पड़ेगा। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 4: इस पेज पर आपको अपना State, District, Tehsil सिलेक्ट करना होगा इसके बाद आपके सामने Maps Handover To State आ जाएगी। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 5: इसके बाद Search में अपना Village डालने पर आपके सामने Details आ जाएंगी। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

“Final Maps Generated Details” (अंतिम मानचित्र जेनरेटेड विवरण)  पृष्ठ खोलने के लिए सीधे नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/getFinalMap.html 

 

पीएम स्वामित्व योजना के तहत पूछताछ प्रक्रिया पूर्ण विवरण देखें (View Enquiry Process Completed Details under PM Swamitva Yojana)

Step 1: सर्वप्रथम पीएम स्वामित्व योजना की Official Website पर जाएं:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/index.html

Step 2: ऑफिशियल वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ को नीचे की तरफ Scroll करें। अब आप नीचे देखेंगे “Maps Provided For Enquiry” का विकल्प आपको दिखाई देगा जिस पर आप को क्लिक करना है। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 3: “Maps Provided For Enquiry” के विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपको “Maps Provided For Enquiry (SOI)” का पेज दिखाई पड़ेगा। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 4: इस पेज पर आपको अपना “State”, “District”, “Tehsil” सिलेक्ट करना होगा इसके बाद आपके सामने Maps Handover To State आ जाएगी।           जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 5: इसके बाद “Search” में अपना Village डालने पर आपके सामने Details आ जाएंगी। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

इसके लिए ऊपर दी गई समान प्रक्रिया का पालन करें या पीएम स्वामित्व योजना के तहत “Enquiry Process Complete Details” (पूछताछ प्रक्रिया पूर्ण विवरण) देखने के लिए सीधे नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/getEnqueryProcess.html 

 पीएम स्वामित्व योजना के तहत पार्सल डिजीटल रिपोर्ट विवरण देखें (View Parcel Digitised Report under PM Swamitva Yojna)

Step 1: सर्वप्रथम पीएम स्वामित्व योजना की Official Website पर जाएं:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/index.html

Step 2: ऑफिशियल वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ को नीचे की तरफ Scroll करें। अब आप नीचे देखेंगे “Parcel Digitised” का विकल्प आपको दिखाई देगा जिस पर आप को क्लिक करना है। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 3: “Parcel Digitised” के विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपको “Parcel Digitised Report” का पेज दिखाई पड़ेगा। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 4: इस पेज पर आपको अपना “State”, “District”,  “Tehsil” सिलेक्ट करना होगा इसके बाद आपके सामने Maps Handover To State आ जाएगी।  जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 5: इसके बाद “Search” में अपना “Village” डालने पर आपके सामने Details आ जाएंगी। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत “Parcel Digitised Report” (डेटा प्रोसेसिंग पूर्ण विवरण देखें) को खोलने के लिए सीधे नीचे दिए गए लिंक पर सीधे क्लिक करें:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/statewisepropertyparcelsdigitised.html?OWASP_CSRFTOKEN=N84Y-R29M-3VJ3-8QJS-5HPT-KI7H-UZMJ-ZZBD 

पीएम स्वामित्व योजना के तहत ड्रोन सर्वेक्षण विवरण प्राप्त करें (Get Drone Survey Details under PM Swamitva Yojana)

Step 1: सर्वप्रथम पीएम स्वामित्व योजना की Official Website पर जाएं:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/index.html

Step 2: ऑफिशियल वेबसाइट के मुख्य पृष्ठ को नीचे की तरफ Scroll करें। अब आप नीचे देखेंगे “Drone Survey” का विकल्प आपको दिखाई देगा जिस पर आप को क्लिक करना है। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 3: “Drone Survey” के विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपको “Drone Survey Details” का पेज दिखाई पड़ेगा। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 4: इस पेज पर आपको अपना State, District, Tehsil सिलेक्ट करना होगा इसके बाद आपके सामने Maps Handover To State आ जाएगी। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

Step 5: इसके बाद “Search” में अपना “Village” डालने पर आपके सामने Details आ जाएंगी। जैसा कि नीचे दिखाया गया है:-

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत “Drone Survey Details” (ड्रोन सर्वेक्षण विवरण) प्राप्त करने के लिए समान प्रक्रिया का पालन करें या नीचे दिए गए लिंक पर सीधे क्लिक करें:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/getDroneSurvey.html 

पीएम स्वामित्व योजना के तहत ड्रोन रिपोर्ट के लिए डेटा एंट्री स्थिति (Data Entry Status for Drone Report under PM Swamitva Yojana)

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत “Data Entry Status for Drone  Report (ड्रोन रिपोर्ट के लिए डेटा एंट्री स्टेटस)  खोलने के लिए समान प्रक्रिया का पालन करें या नीचे दिए गए लिंक पर नीचे दिए गए लिंक पर सीधे क्लिक करें:-

https://svamitva.nic.in/svamitva/statewisevillagecountreportindex.html  

 Step 1: लिंक क्लिक करने के पश्चात “Data Entry Status For Drone Report (State)” का Page कुछ इस प्रकार दिखाई पड़ेगा।

Step 2: इस पेज पर आपको अपना State, District, Tehsil सिलेक्ट करना होगा।

अन्य पढ़ें –

 

 

 

 

 

Leave a Comment