Warehouse Subsidy Yojana 2024:ग्रामीण भंडारण योजना,उद्देश्य, विशेषताएं, लाभ, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया

Warehouse Subsidy Yojana:- आप सभी जानते हैं कि हमारे देश में किसानों की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वे अपना गोदाम बना सकें। इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने ग्रामीण भंडारण योजना की शुरुआत की. आज इस लेख में हम आपको ग्रामीण भंडारण कार्यक्रम के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे। उदाहरण के लिए, ग्रामीण भंडारण प्रणाली क्या है? उद्देश्य, विशेषताएं, लाभ, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया, आदि। तो दोस्तों, यदि आप वेयरहाउस सब्सिडी योजना 2024 के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको हमारे लेख को अंत तक पढ़ना होगा।

About Warehouse Subsidy Yojana

जो किसान अपनी फसलों की सुरक्षा नहीं कर पाते, वे अक्सर कम कीमत पर अपनी फसल बेचने को मजबूर होते हैं। इस समस्या को देखते हुए सरकार ने 2024 भंडारण सब्सिडी योजना शुरू की है। योजना में किसानों के उत्पादों को सुरक्षित रूप से संग्रहीत करने के लिए एक गोदाम के निर्माण का आह्वान किया गया है। गोदामों का निर्माण किसानों द्वारा स्वयं या किसान-संबद्ध संगठनों द्वारा किया जा सकता है। इस प्रणाली के आधार पर, किसानों को गोदामों के निर्माण के लिए ऋण मिलता है, जबकि ऋण पर सब्सिडी पर भी विचार किया जाता है।

Warehouse Subsidy Yojana (Capacity)

इस योजना के अंतर्गत क्षमता उद्यमी द्वारा निर्धारित की जाती है। हालाँकि, सब्सिडी के लिए पात्र होने के लिए भंडारण क्षमता न्यूनतम 100 टन और अधिकतम 30,000 टन होनी चाहिए। यदि क्षमता 30,000 टन से अधिक या 100 टन से कम है, तो इस योजना के तहत कोई सब्सिडी प्रदान नहीं की जाएगी। कुछ विशेष मामलों में, 50 टन तक की क्षमता के लिए भी वित्तपोषण उपलब्ध है। पर्वतीय क्षेत्रों में 25 टन क्षमता के ग्रामीण गोदामों की स्थापना को भी प्रोत्साहित किया जायेगा। इस योजना के तहत ऋण चुकाने की अवधि 11 वर्ष है।

Warehouse Subsidy Yojana (Highlights)

योजना का नाम ग्रामीण भंडारण योजना
किस ने लांच की केंद्र सरकार
लाभार्थी किसान
उद्देश्य किसानों को भंडार ग्रह प्रदान करना।
साल 2024
आधिकारिक वेबसाइट https://www.nabard.org/

 

Warehouse Subsidy Yojana

Warehouse Subsidy Yojana (सब्सिडी मिलने का आधार)

  • प्लेटफार्म
  • भीतरी सड़क
  • चार दिवारी
  • गुणवत्ता प्रमाणन
  • पैकेजिंग
  • ग्रेडिंग
  • अतिरिक्त जल निकासी प्रणाली का निर्माण
  • गोदाम में निर्माण की पूंजी लागत
  • वेयरहाउसिंग सुविधाएं आदि

Warehouse Subsidy Yojana (Objectives)

2024 में गोदाम सहायता योजना का मुख्य लक्ष्य किसानों के लिए गोदाम बनाना है। इस प्रकार, किसान अपनी फसलों की रक्षा करते हैं और उन्हें कम कीमत पर अपनी फसल बेचने के लिए मजबूर नहीं होना पड़ता है। इस प्रणाली से किसानों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा और वे अब गरीबी में नहीं रहेंगे।

Warehouse Subsidy Yojana के लाभार्थी

  • किसान
  • कृषक/उत्पादक समूह
  • प्रतिष्ठान
  • गैर सरकारी संगठन
  • स्वयं सहायता समूह
  • कंपनियां
  • निगम
  • व्यक्ति
  • सरकारी संगठन
  • परिसंघ
  • कृषि उपज विपण समिति

Warehouse Subsidy Yojana (सब्सिडी कि दरे)

  • परियोजना की पूंजीगत लागत का एक तिहाई एससी/एसटी उद्यमियों और इन समुदायों से संबंधित या उत्तर-पूर्वी राज्यों या पहाड़ी क्षेत्रों में स्थित संगठनों को अनुदान के रूप में प्रदान किया जाएगा। अधिकतम सीमा 3 करोड़ रुपये है.
  • यदि निर्माण करने वाला व्यक्ति किसान है या किसान उच्च शिक्षा प्राप्त है या किसी सहकारी संगठन से संबंधित है तो परियोजना पूंजी का 25% तक की सब्सिडी प्रदान की जाती है। ऐसे में अधिकतम रकम 2.25 करोड़ रुपये है.
  • व्यक्तियों, कंपनियों और निगमों सहित अन्य सभी श्रेणियों को परियोजना की पूंजी लागत के 15% के बराबर अनुदान मिलेगा। ऐसे में अधिकतम रकम 1.35 करोड़ रुपये है.
  • यदि एनसीडीसी सहयोग से गोदाम का नवीनीकरण किया जाता है तो लागत का 25% अनुदान के रूप में प्रदान किया जाएगा।

Warehouse Subsidy Yojana (पूंजी लागत)

  • 1000 टन क्षमता के गोदाम के लिए:- बैंक द्वारा प्रदान की गई मुलयांकित परियोजना लागत या वास्तविक लागत या फिर 3500 रुपए प्रति टन। इन में से जो भी कम है।
  • 1000 टन से ज्यादा क्षमता वाले गोदाम:- बैंक द्वारा प्रदान की गई मूल्यांकन परियोजना लागत या फिर वास्तविक लागत या फिर 1500 रुपए प्रति टन। इनमें से जो भी कम हो।

Warehouse Subsidy Scheme 2024 के मुख्य तथ्य

  • गोदाम में कुछ सुविधाएं जैसे की पक्की सड़क, जल निकासी की व्यवस्था, सुरक्षा व्यवस्था, समान लाने उतारने की व्यवस्था आदि होना अनिवार्य है।
  • सभी रोशनदान तथा खिड़कियां पक्षियों से सुरक्षित होनी चाहिए।
  • सारे दरवाजे, खिड़कियां वायु अवरोधक होनी चाहिए।
  • गोडाउन कीटाणुओं से सुरक्षित होना चाहिए।
  • भंडार गृह का निर्माण सीपीडब्ल्यूडी या फिर सीपीडब्ल्यूडी- के के दिशा निर्देशों के अनुसार होना चाहिए।
  • अपनी मर्जी से कहीं भी भंडार ग्रह का निर्माण कर सकता है।
  • ग्रामीण भंडारण योजना के अंतर्गत आवेदक को गोदाम के लिए लाइसेंस लेना अनिवार्य है।
  • भंडार ग्रह 1000 टन से ज्यादा है तो उससे सीडब्ल्यूसी से मान्यता प्राप्त करनी जरूरी है।
  • गोदाम की ऊंचाई 4-5 मीटर से कम नहीं होनी चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत गोदाम इंजीनियरिंग मानकों के अनुसार बनना चाहिए।
  • Warehouse Subsidy Scheme 2024के अंतर्गत आवेदक को वैज्ञानिक भंडारण का निर्माण करना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदक के पास खुद की जमीन होना अनिवार्य है।
  • गोदाम की क्षमता का निर्णय इस योजना के अंतर्गत आवेदन पर निर्भर किया गया है।
  • गोदाम नगर निगम की सीमा क्षेत्र से बाहर होना अनिवार्य है।

Warehouse Subsidy Scheme (Banks)

  • अर्बन कोऑपरेटिव बैंक
  • रीजनल रूरल बैंक
  • कमर्शियल बैंक
  • नॉर्थ ईस्टर्न डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन
  • स्टेट कोऑपरेटिव एग्रीकल्चरल एंड रूरल डेवलपमेंट बैंक
  • स्टेट कोऑपरेटिव बैंक
  • एग्रीकल्चरल डेवलपमेंट फाइनेंस कमेटी

Warehouse Subsidy Scheme (Eligibility & Documents)

  • इस योजना का लाभ किसान तथा कृषि से जुड़े संगठन उठा सकते हैं
  • योजना का पात्र होने के लिए आवेदक को भारत का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बैंक अकाउंट डिटेल्स
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • निवास प्रमाण पत्र

Warehouse Subsidy Scheme (How To Apply)

  • आपको सतनाम ग्रामीण भंडारण योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना चाहिए।
  • अब आपके सामने मुख्य पेज खुल जाएगा।
  • होमपेज पर आपको “अभी आवेदन करें” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने आवेदन पत्र खुल जाएगा।
  • इस आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी प्रदान की जानी चाहिए।
  • फिर आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज़ संलग्न करने होंगे।
  • इसके बाद, आपको “भेजें” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप स्थानीय भंडारण प्रणाली के तहत आवेदन कर सकते हैं।

Contact Information

  • Helpline Number- 022-26539350
  • Email Id- icd@mohammadwaseemard.org

HOME PAGE:- CLICK HERE

OFFICIAL WEBSITE:- CLICK HERE

Leave a Comment